MGNREGA Wage Rate 2024-25: मनरेगा मजदूरी रेट करे चेक

MGNREGA Wage Rate 2024-25: हाल ही में केंद्र सरकार ने मनरेगा योजना के तहत मजदूरी दरों में बढ़ोतरी की है। इस योजना के तहत वित्त वर्ष 2024-25 में देश के हर राज्य में नई मजदूरी दरें तय की गई हैं. केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने 27 मार्च, 2024 को पुरानी मजदूरी दरों में बदलाव करके महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (MGNREGA) के लिए नई मजदूरी दर दिशानिर्देश जारी किए हैं।

चालू वित्तीय वर्ष 2024-25 के लिए नई मजदूरी दरें तय कर दी गई हैं जो 1 अप्रैल 2024 से लागू होंगी। मनरेगा योजना के तहत सभी राज्यों में श्रमिकों की औसत दैनिक मजदूरी पहले के 261 रुपये से बढ़कर 289 रुपये हो गई है। प्रतिदिन 28 रुपये की बढ़ोतरी हुई है. इसमें इस योजना से जुड़े सभी राज्यों के श्रमिकों को सीधा लाभ मिलेगा.

MGNREGA Wage Rate 2024-25

मनरेगा योजना के तहत देश के हर राज्य और केंद्र शासित प्रदेश में दैनिक मजदूरी कम या ज्यादा बढ़ी है। औसत बढ़ोतरी 28 रुपये प्रतिदिन है। लेकिन यहां से आप यह भी जान सकते हैं कि आप जिस राज्य में रहते हैं वहां मजदूरी कितनी बढ़ी है। अपने राज्य अनुभाग को ध्यान से पढ़ें।

MGNREGA Yojana क्या है?

2005 में, भारत सरकार के ग्रामीण विकास मंत्रालय ने महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (Mahatma Gandhi National Rural Employment Guarantee Act – MGNREGA) नामक एक योजना शुरू की, जिसे संक्षेप में मनरेगा के नाम से भी जाना जाता है।

इस योजना के माध्यम से ग्रामीण परिवारों के वयस्क सदस्यों को साल में 100 दिन के काम की गारंटी दी जाती है। यह आय सरकार की विभिन्न अकुशल शारीरिक गतिविधियों में दी जाती है। इस योजना से जुड़े सदस्यों को अन्य सरकारी योजनाओं का भी लाभ दिया जाता है

मनरेगा योजना के उद्देश्य

अन्य सरकारी योजनाओं की तरह, इस योजना के भी कुछ प्रमुख उद्देश्य हैं, यही वजह है कि इस योजना को इतनी लंबी अवधि और लोकप्रियता मिली है।

  • यह कोई योजना नहीं बल्कि एक सरकारी नियम है जिसमें रोजगार की गारंटी 100 प्रतिशत है।
  • इस योजना के तहत परिवार के बुजुर्ग सदस्य आसानी से काम के लिए आवेदन कर सकते हैं।
  • व्यक्ति काम के लिए आवेदन करने के 15 दिनों के भीतर कमाई शुरू कर देते हैं।
  • महिलाये भी इस योजना के तहत आवेदन करने की पात्र हैं। नियमित रूप से एक चौथाई महिला श्रमिकों को इस योजना के तहत आय दी जाती है।
  • महिलाओं को पुरुषों की तुलना में कम काम के लिए समान वेतन दिया जाता है।
  • केंद्र सरकार की इस मोनरेगा योजना के माध्यम से देश की न्यूनतम गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों को रोजगार और आय प्रदान करना।

MGNREGA Wage Rate

राज्य/ केंद्र शासित प्रदेश मनरेगा मजदूरी दर
आंध्र प्रदेश ₹300
अरुणाचल प्रदेश ₹234
असम ₹249
बिहार ₹245
छत्तीसगढ़ ₹243
गोवा ₹356
गुजरात ₹280
हरियाणा ₹374
हिमाचल प्रदेश (गैर अनुसूची क्षेत्र) ₹236
हिमाचल प्रदेश (अनुसूची क्षेत्र) ₹295
जम्मू कश्मीर ₹259
लद्दाख ₹259
झारखंड ₹245
कर्नाटक ₹349
केरला ₹346
मध्य प्रदेश ₹243
महाराष्ट्र ₹297
मणिपुर ₹272
मेघालय ₹254
मिजोरम ₹266
नागालैंड ₹234
ऑडिशा ₹254
पंजाब ₹322
राजस्थान ₹266
सिक्किम ₹249
सिक्किम (गणथंग, लाचुंग, लाचेन) ₹374
तमिलनाडु ₹319
तेलंगाना ₹300
त्रिपुरा ₹242
उत्तर प्रदेश ₹237
उत्तराखंड ₹237
पश्चिम बंगाल ₹250
अंडमान एण्ड निकोबार (अंडमान) ₹329
अंडमान एण्ड निकोबार (निकोबार) ₹347
दादरा नगर हवेली, दमन एण्ड ड्यू ₹324
लक्षद्वीप ₹315
पुडुचेरी ₹319

Also Read: Dnyanjyoti Savitribai Phule Aadhaar Yojana Online 2024: छात्रों को मिलेगी इतने रुपये की आर्थिक सहायता

FAQ:

Q1: मनरेगा में कुशल मजदूरी कितनी है?
Ans: वित्तीय वर्ष 2024-25 में मनरेगा योजना के तहत औसत दैनिक वेतन में 28 रुपये की वृद्धि हुई है। पहले औसत वेतन 261 रुपये था, अब यह बढ़कर 289 रुपये हो गया है।

Q2: राजस्थान में नरेगा की मजदूरी क्या है?
Ans: वित्तीय वर्ष 2024-25 में राजस्थान राज्य में मोनरेगा योजना के तहत मजदूरी में वृद्धि हुई है। वर्तमान वेतन 266 रुपए है। जो 1 अप्रैल 2024 से लागू है।

Q3: मनरेगा का ताजा रेट क्या है?
Ans: वित्तीय वर्ष 2024-25 में मनरेगा योजना के तहत 1 अप्रैल 2024 से औसत दैनिक वेतन में 28 रुपये की वृद्धि हुई है। पहले औसत वेतन 261 रुपये था, अब यह बढ़कर 289 रुपये हो गया है।

Leave a Comment